ख्याल किया करो

mother, daughter, black dresses-6195216.jpg


तेरे आंचल की छाँव है
महलों से भी अच्छी।
तेरी बातों में ज्ञान है
गीता से भी अच्छे।


तेरे हाथों की कोमलता है
पंखुड़ियों से भी अच्छी।
तेरे दिल में सादगी है
नवजात से भी अच्छी।


माँ बस अपना

ख्याल किया करो।
तेरी हर चीज़ है अच्छी
तेरी हर बात है सच्ची।


तेरी आँखों में है ममता की झलक
मन करे बस देखूँ बिन झपकाए पलक।
बस तू रहे खुश तब तलक
जब तक लहरें छुएं सागर के फ़लक।


जब सुनू तू है परेशान
तो हो जाती मेरी आंखें नम।
रब का सम्मान हो जाता कम
जब तक रहता तुझे कोई भी गम।


माँ बस अपना

ख्याल किया करो।
तेरी हर चीज़ है अच्छी
तेरी हर बात है सच्ची।


रब मेरी एक पुकार

तो सुना करो।
देनें हो गम तो
पहले मुझे चुना करो।
माँ को न तंग किया करो।


देनी हो ख़ुशी तो
माँ को ही चुना करो।
बस इतना एहसान

मुझपे किया करो।

माँ बस अपना

ख्याल किया करो।
तेरी हर चीज़ है अच्छी।
तेरी हर बात है सच्ची।
Satya Prakash Sharma

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *