वो पिता ही होता है

father and son, happiness, love-3456666.jpg


वो कभी हारता भी है
तो तुम्हे जीत दिलाने के लिए।
वो खुद पर कम खर्च करता भी है
तो तुम्हे अमीर बनाने के लिए।

वो कभी सोच में पड़ता भी है
तो तुम्हारे भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए।
वो पिता ही होता है जो हमेशा तैयार होता है
तुम्हारा साथ निभाने के लिए।

वो मुश्किलों को अकेले झेलता भी है
तो तुम्हारे जीवन को आसान बनाने के लिए।
वो पुरानी स्कूटर चलाता भी है
तो तुम्हे नयी बाइक दिलाने के लिए।

वो तुमपर गुस्सा करता भी है
तो तुम्हे बेहतर इंसान बनाने के लिए।
वो पिता ही होता है जो हमेशा तैयार होता है
तुम्हारा साथ निभाने के लिए।

वो अपने सपनों को भूलता भी है
तो तुम्हारे सपने को सच का आकर देने के लिए।
वो कीमती चीज़ों को अक्सर मना करता भी है
तो तुम्हारी हर ख़्वाइश साकार करने के लिए।

वो हमेशा तुम्हे सलाह देता भी है
तो तुम्हे जीवन की ठोकरों से बचाने के लिए।
वो पिता ही होता है जो हमेशा तैयार होता है
तुम्हारा साथ निभाने के लिए।
Satya Prakash Sharma

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *